मंगलवार, 3 नवंबर 2009

आमवात

मुख्य लक्षण--------सुजन सहित शरीर के जोडों मे दर्द ,भुख कम लगना, आलस्य, शरीर मे भारीपन,मंद ज्वर,कटि शूल, और भोजन का पूरी तरह से परिपाक न होना, मुख के स्वाद का बदल जाना,दिन मे नींद आना और रात मे नींद का न आना, अधिक पुराना होने पर शरीर के जोडो मे विकृति आकर अंग मुड जाते है।

आहार - विहार व्यवस्था- जल्दी पचने वाला, लघु, उष्ण, और कम मात्रा मे आहार ग्रहण करे, लस्सी, चावल, ठन्डा पानी, कोल्ड ड्रिन्क्स, भारी खाना, तला हुआ भोजन, आदि से परहेज रखें। परवल और करेले या अन्य कटु साग सव्जीयों का प्रयोग ज्यादा करें , हमेशा कोष्ण जल का प्रयोग करें।
पथ्य----- जौ, कुल्थी की दाल, करेला, बथुआ, परवल, एरण्ड का तैल, अजवायन,पराने चावल, शहद, लहसून, सोंठ, मेथी, हल्दी का नित्य सेवन करें।
अपथ्य-------वेगावरोध,चिन्ता करना, शोक करना, दूध गुड, दुध मांस, दुध मछली, का सेवन, रात मे जागना, भारी खाना, अत्यधिक चिकने पदार्थों का सेवन।
आमवात मे हमेशा गर्म बालु रेत की पोटली बनाकर प्रभावित अंग को सेके और एक घन्टा तक हवा न लगने दें।

आयुर्वेदिक चिकित्सा---
अलम्बुषा चुर्ण, अजमोदादि चुर्ण,
अग्नि तुंडी वटी, चित्रकादि वटी, आमवातारि वटी ।
महारास्नादि क्वाथ, दशमूल क्वाथ
योगराज गुग्गलु, अमृतादि गुग्गुलु, सिँह नाद गु, ।
महावातविधंसक रस, बृहत वात चिन्तामणि रस, वातगजांकुश रस, समीर पन्नग रस, ।

1 टिप्पणी:

Dr D.P Rana ने कहा…

+ निद्राविपर्य आमवात का एक प्रमुख लक्षण है
acording to vangsena vaitarn vasti with gomutra is indicated.
पुराना आमवात मेरे ख्याल से
ठीक करना बहुत ही मुश्किल है
castor oil with milk empty stomach in morning.

वातरक्त और आमवात मे व्याधि विनिश्च्य करने के लिये मै "निद्राविपर्य " लक्षण का सहारा लेता हु
‎1st hame decide karna chahiye,ki jirna amvat hi kya.then t.t start karna chahiye.isme hum castor oil ki sneha vasti de sakte hai.

all Ra+ cases are not aamavata and same all increased serum uric acid patiens are not vaatarakta patients. must be diagnosed with ayurveda point before doing treatment

‎1st hame decide karna chahiye,ki jirna amvat hi kya.then t.t start karna chahiye.isme hum castor oil ki sneha vasti de sakte hai.

Chikita to cakradath ki h.
1.Ruksha sweda podigeri 3days (baluka/lavana)
2.Patra potli saweda/abhyanga
3.Arend sahepan/ ghret pan+verachana
4.matra vasti
gugulu & aamvatari ras, kokilax kasayam, vasvanar choorna
Wednesday at 10:45pm via mobile ·

if sweling,rukha sweda dena chahiye.yadi jeerna hai to hum sneha ka use externaly kae sakte hai.
amavat ke t.t. Me castor oil hav a great roll. Nagarjuna kerla ,pharmecy a
aamvar kwath banati hai.aap kam me le sakte ho.
Sunthi + Erand Tail quath + Aamavatari ras + Valika swed

panchakola sadhitha jala, nitya virechana with gandharava hastadi yeranda taila, ruksha swedana to affected sandhi..